कोरोना की वजह से तलाक लेना हुआ आसान, इस कपल को नहीं काटने पड़े कोर्ट के चक्कर

कोरोना महामारी से पहले शादीशुदा लोगों को डाइवोर्स (Divorce) लेने के लिए निचली अदालत के चक्कर लगाने पड़ते थे, लोगों का डाइवोर्स केस का फैसला आने में काफी समय लग जाता था. लेकिन, कोरोना वायरस महामारी के वक्त दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक कपल को डाइवोर्स मिल गया.

Divorce Advocate in Rohini


मई 2017 में इस कपल ने शादी की थी और कुछ ही महीने साथ रहने के बाद दोनों अलग हो गए थे. दिसम्बर 2018 से कपल अलग अलग रह रहे थे. 2019 में कपल ने डाइवोर्स केस फाइल किया था. हालही में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि डाइवोर्स केस में अगर कोई कपल एक साल से ज्यादा समय से अलग रहे तो आपसी रजामन्दी से कोर्ट डाइवोर्स दे सकती है. रोहिणी फैमिली कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के इस फ़ैसले को आधार बनाकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर सुनवाई के वक्त कपल को डाइवोर्स दे दिया.
बता दें कि डाइवोर्स देने से पहले रोहिणी फैमिली कोर्ट ने कपल को री काउंसलिंग के लिए भी भेजा, लेकिन कपल के बीच समझौता नहीं हुआ और ये दोबारा कोर्ट में आकर डाइवोर्स मांगने लगे, जिसके बाद कोर्ट ने आखिरकार इन्हें डाइवोर्स दे दिया.

Posts Tagged with…

Write a Comment