पार्टनर से करनी है शादी की बात? हमेशा रखें इन 5 बातों का ध्यान

शादी को लेकर अक्सर लोग कन्फ्यूज रहते हैं. खासतौर पर लंबे समय तक एक रिश्ते में रहने के बाद गर्लफ्रेंड ब्वायफ्रेंड में ये दुविधा रहती है. रिश्ता कितना भी अच्छा क्यों न चल रहा हो पर जब बात शादी की आती है तो लोग फंसे नजर आते हैं. लोगों को समझ नहीं आता कि आखिर किस वक्त के बाद शादी के लिए हां करें या पार्टनर से शादी की बात कब करें. अगर आपको भी शादी की बात करनी है तो इन 5 बातों का ध्यान रखें.

1.जब साथी पर हो जाए पूरा भरोसा

किसी भी रिश्ते की नींव भरोसा होती है. ये जरूरी नहीं कि आप जिससे प्यार करते हों उस पर आंख बंद करके भरोसा भी कर लें. विश्वास एक ऐसी चीज हो जो आपके रिश्ते को जोड़ती है. विश्वास की कमी से रिश्ता टूट भी सकता है. शादी की बात तभी करें जब आपको अपने साथी पर पूरा भरोसा हो जाए.

2.पार्टनर के साथ इमोशनल कनेक्शन

हर रिश्ते में पैशन होना बहुत जरूरी है वरना जिंदगी बोरिंग लगने लगती है. जितना ज्यादा समय आप एक-दूसरे के साथ बिताते है, रिश्ता उतना ही गहरा होता जाता है. पर शादी की बात से पहले ये जरूर टटोल लें कि आपका साथी के साथ इमोशनल कनेक्शन कितना है.

3.आर्थिक स्थिति का रखें ध्यान
शादी का निर्णय लेने से पहले कई बातों को ध्यान में रखना पड़ता है. उनमें से एक है आर्थिक निर्भरता. शादी से पहले और शादी के बाद के खर्चों में जमीन- आसमान का अंतर होता है. शादी का फैसला करते वक्त अपनी और पार्टनर दोनों की आर्थिक स्थिति का ध्यान रखें.

4.जब झगड़ों को सुलझाना जानते हों
जहां प्यार होता है वहां लड़ना- झगड़ना आम बात है. पर शादी के बारे में तभी सोचें जब आप रिश्ता आगे बढ़ाने के लिए झगड़ों को सुलझाने में यकीन रखते हों. शादी के बाद के झगड़ों को बहुत धैर्य से सुलझाना पड़ता है.

5.पार्टनर के परिवार का रखें ध्यान
शादी का निर्णय करते समय सबसे जरूरी और अहम बात है आपके पार्टनर का परिवार कैसा है. समस्या तब हो जाती है जब आप अपने साथी को तो अपनाना चाहते हैं लेकिन उसके परिवार को नहीं. शादी के निर्णय लेते समय साथी के साथ उसके परिवार को भी दिमाग में रखें.

Posts Tagged with…

Write a Comment